बुधवार, 19 फ़रवरी 2014

वो बात मेरे दिल कि मानते तो बात थी



वो बात, मेरे दिल की,मानते  तो बात थी 
क्या मुझपे गुजर रही,जानते तो बात थी.

गुजर जाती जिंदगी ,अपनी बड़े प्यार से 

प्यार अपना दिल से, छानते तो बात थी.

कुछ कहते सुनते हम, बैठते कहीं अकेले

तम्बू  प्यार का दोनों, तानते तो बात थी.

कभी हम ने गौर ही, नहीं किया  दिलवर 

गर एक- दूजे को, पहिचानते तो बात थी.

एक- दूजे को पाके सफल जरूर होते प्रेम 
दोनों अपने दिलों में, ठानते  तो बात थी.

शुक्रवार, 7 फ़रवरी 2014

आखिर मोहब्बत को क्यों समझेगा जमाना



वो बात मेरे दिल की मानते  तो बात थी 
क्या गुजर रही है ये जानते  तो बात थी. 

गुजर जाती जिंदगी अपनी बड़े प्यार से 

प्यार अपना दिल से छानते तो बात थी.

कुछ कहते सुनते हम बैठते कहीं अकेले

तम्बू  प्यार का दोनों तानते तो बात थी.

कभी हम ने गौर ही नहीं किया  दिलवर 

गर एक दूजे को पहिचानते तो बात थी.

एक दूजे को पाके हम सफल जरूर होते 

दोनों अपने दिलों में ठानते  तो बात थी.

गुरुवार, 6 फ़रवरी 2014

न जियें और न जीने दें जहाँ वाले


 
न जियें और न जीने दें जहाँ वाले। 
खुदा क्यों भेजे दुश्मने जाँ वाले। 

दिनों दिन बदलता जा रहा है वक्त
पुरानी सोचें अब तो बेकार हो गयीं।
जिन्दगी दो मौत ना दो औलादों को
बहुतों की जिन्दगीं निसार हो गयीं।

तुम्हारी ही  औलादें है ऐ जहांवालो
जिद में अरमानें तार-तार हो गयीं।
प्यार गर करते हैं तो करने दीजिये 
तुम से ये  कितनी लाचार हो गयीं।

बच्चों के प्यार को समझो प्यार से
झूठी शान पर आखिर क्यों अड़े हो
तुम्हारा अपना खून है गैर का नहीं 
उनको मारो मत तुम उनसे बड़े हो


जाने कब से दुनिया यह चल रही है



जाने
कब से दुनिया यह चल रही है
आने -जाने वालों से यह पल रही है

जाने कितने रूपों से गुजरी है यह 

गिर गिरके उठ उठके संभल रही है।

कोई दुखी तो कोई सुखी नज़र आये  

कहीं बुझ रही है तो कहीं जल रही है

जो
आज दिख रही वो कल रहेगी
रोज़  नए सांचे  में प्यारे ढल रही है

जिसके जैसे  कर्म उसे
यह वैसी लगे
किसी को फले किसी को खल रही है



तेरी कसम तेरे सिवा किसी की आरजू नहीं है


तेरी कसम तेरे सिवा किसी की आरजू नहीं है
तुम हो तो फिर मुझे किसी की जुस्तजू नहीं है

तुम हो आज़ाद कुछ भी सोच सकती हो
किसी को अपना कर भी छोड़ सकती हो 
तुम हो मेरी जान यूँ ही तुमसे गुफ्तगू नहीं है

तुम क्या जानो तुझको कितना चाहूँ मैं  
हर वक्त प्रिये तुझको कितना सराहूँ मैं 
तुमसे बढ़ के जानम सचमुच कोई और नहीं है

तेरे बिना जीना मुझको कबूल होगा
तेरी जुदाई जैसा शूल कोई शूल होगा
तुझसे ही कायम किसी से कायम आबरू नहीं है


आम आदमी पार्टी

    
          आम आदमी पार्टी 

आपने साल  भर में ही  में रंग अपना जमाया है
समझते ही नहीं थे जो समझ में उनकी आया है. 
व्यवस्था  भी  बदल देंगे  अवस्था भी बदल देंगे 
अभी तो पहला ही पहला कदम अपना उठाया है. 
                        
न  भ्रष्टाचार  होगा अब  न होगी  कोई  मंहगाई
आपने  आपकी  खातिर कसम ये सोचकर खाई.
झाड़ू  हमने उठाया है  सफाई होके ही रहेगी अब
इसी  में  ही दिखे  अब  तो  हमें  सब की  भलाई.

                     - प्रेम फ़र्रुखाबादी

वो खुदको खुदा तो वो खुदको खुदी समझती है


वो खुदको खुदा तो वो खुदको खुदी समझती है।
इसलिए दोनों की आपस में कभी नहीं पटती है।  

एक पूरब को तो एक पश्चिम को जाने लगता  
जब भी कभी उनमें कोई अपनी बात चलती है।

जुदाई एक दूजे की कभी गंवारा ही नहीं उनको
इधर वो हाथ मलता तो उधर वो हाथ मलती है। 

कोई बताये दोनों की निभे तो भला कैसे निभे
न वो कभी झुकता दोस्तों न वो कभी झुकती है।

मंगलवार, 4 फ़रवरी 2014

मुहब्बत का ऐसा असर हुआ


मुहब्बत का ऐसा असर हुआ
कि तन मन धन नज़र हुआ.

होश रहा खुद का जग का
मुहब्बत में यूँ तर बतर हुआ.

मुहब्बत में मालूम  चला
कब रात हुई कब सहर हुआ.

मुहब्बत का नशा ऐसा नशा  
रब जाने कब मैं खंडहर हुआ.

किसी को यहाँ पर मिलन तो 
किसी को हासिल जहर हुआ.

अब आपको क्या बताएं हम
दिल मदहोश इस कदर हुआ.







कोई हँसे कोई रोये इसी को दुनियां कहते हैं



कोई
हँसे कोई रोये इसी को दुनियां कहते हैं
कोई जगे कोई सोये इसी को दुनियां कहते हैं

कोई
तो रिश्वत लेकर खुश होता है
कोई तो रिश्वत देकर दुःख होता है
कोई देता कोई लेता इसी को दुनियां कहते हैं
कोई हँसे कोई रोये इसी को दुनियां कहते हैं
कोई जगे कोई सोये इसी को दुनियां कहते हैं

किसी को छेड़ने में मज़ा आता है

किसी को छिड़ने में मजा आता है
कोई छिड़े कोई छिड़वाये इसी को दुनियां कहते हैं
कोई हँसे कोई रोये इसी को दुनियां कहते हैं
कोई जगे कोई सोये इसी को दुनियां कहते हैं

कोई तो लूटने से खुश होता है  

कोई तो लुटवाने से खुश होता है 
कोई लुटे कोई लुटवाए इसी को दुनिया कहते हैं
कोई हँसे कोई रोये इसी को दुनियां कहते हैं 
कोई जगे कोई सोये इसी को दुनियां कहते हैं