शुक्रवार, 11 नवंबर 2016

यह जीवन जीना आसान नहीं


यह  जीवन  जीना  आसान नहीं 
है  कौन  यहाँ  जो  परेशान नहीं।  

होता  है  दुःख  उसी  को अक्सर 
होता  जिसको  कोई  ज्ञान  नहीं।  

जो अपनी  ही  परवाह  करे बस 
वो  पशु  है  कोई   इंसान   नहीं।  

बस  वही  भटकता रह  जाता है 
आता जिसको यहाँ ध्यान  नहीं।   

किया नहीं  कोई परहित जिसने
कभी होता उसका कल्याण नहीं।   

जो बिना  बुलाये  पहुँच जाता है 
कभी होता उसका सम्मान नहीं। 

प्रभु चरणों  के ध्यान  के आगे  
होता कोई हित कर ध्यान नहीं।