गुरुवार, 8 जून 2017

चाहने वालों की यहाँ कमी नहीं है

चाहने वालों की यहाँ कमी  नहीं है.
मगर उनकी आखों में नमी नहीं है.

लाख ठुकराए दुनियां प्रेम दीवानों को, 

मगर उनकी गिनती कभी थमी नहीं है.

भले ही कही हो आपने  दिल से,
मगर बात आप की जमी नहीं है.

कहने को बहुत खूबसूरत है दुनिया,

मगर तबियत मेरी कहीं रमी नहीं है. 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें