शुक्रवार, 21 नवंबर 2014

मोदी मानव ही नहीं, बहुत बड़े हैं संत




मोदी   मानव  ही  नहीं,  बहुत   बड़े   हैं  संत।   

निश्चय ही अब देश का, होगा  उत्कर्ष अनंत।।
होगा  उत्कर्ष  अनंत,   जग   में  नाम   होगा
देखते   रह   जाएँ   सब,  ऐसा   काम   होगा।
कहे  ' प्रेम '  कविराय,  घोषणाएं  की  जो भी
एक  एक  कर अब  उन्हें,  पूरी  करेंगे   मोदी।   

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें