मंगलवार, 4 फ़रवरी 2014

फिल्म : अजनबी

  फिल्म : अजनबी 
कि : हम दोनों दो प्रेमी दुनिया छोड़ चले
जीवन की हम सारी रस्में तोड़ चले

को : ऐ बाबू कहाँ जइबो रे
ल : हम दोनों दो प्रेमी दुनिया छोड़ चले
कि : जीवन की हम सारी रस्में तोड़ चले -२
ल : हो बाबुल की आए मोहे याद
जाने क्या हो अब इसके बाद
दो : हम दोनों दो प्रेमी ...

कि : ( जाना कहाँ है बता उस शहर का नाम
ल : ले चल जहाँ तेरी मर्ज़ी ये तेरा है काम -२
कि : मुझपे है इतना ऐतबार
ल : मैने किया है तुझसे प्यार
ल : हम दोनों दो प्रेमी ...
कि : जीवन की हम सारी ...

कि : हे क्या सोच रही हो
ल : हूँ मैं
कि : हाँ-हाँ
ल : कुछ भी तो नहीं
कि : बोलो ना कुछ तो

ल : ( ऐसा ना हो तू कभी छोड़ दे मेरा साथ
कि : फिर न कभी कहना दिल तोड़ने वाली बात -२
ल : हो मैने तो की थी दिल्लगी
कि : अच्छा मैने भी की थी दिल्लगी
दो : हम दोनों दो प्रेमी .... (आनंद बक्षी )


ल : किस्मत ने मिलाया हमें और तुम्हें मेरी जां 
कि : निभाएंगे हम प्यार को देकर ये अपनी जां  
ल : वो दिन न आये कभी 
कि : चलती रहे यूँ जिन्दगी    ( स्वरचित  अन्तरा  प्रेम फर्रुखाबादी )

हम दोनों दो प्रेमी ...


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें