सोमवार, 11 फ़रवरी 2013

कोई दर्द बाँटता तो कोई खुशी बाँटता है



कोई दर्द बाँटता तो कोई खुशी बाँटता है। 
जिसके पास जो होता वो वही बाँटता है। 

अँधेरों में जीना भी कोई जीना है दोस्त, 
उसका जीना जीना जो रोशनी बाँटता है। 

किसी की कभी भी जान ले सकता दुष्ट, 
पर सज्जन हमेशा ही जिन्दगी बाँटता है। 

किसी को रुलादे ऐसा गम किस काम का, 
उसको सराहो जो सब को हँसी बाँटता है। 

बुझदिल लोग जिया करते हैं उदासियों में, 
दिलदार वही जो सबको ताजगी बाँटता है।

3 टिप्‍पणियां:

  1. अँधेरों में जीना भी कोई जीना है दोस्त,
    उसका जीना जीना जो रोशनी बाँटता है...

    सच कहा अहि ... रौशनी बांटने वाले ही चमकते हैं सूरज बनके आकाश पे ...

    उत्तर देंहटाएं
  2. BlogVarta.com पहला हिंदी ब्लोग्गेर्स का मंच है जो ब्लॉग एग्रेगेटर के साथ साथ हिंदी कम्युनिटी वेबसाइट भी है! आज ही सदस्य बनें और अपना ब्लॉग जोड़ें!

    धन्यवाद
    www.blogvarta.com

    उत्तर देंहटाएं