सोमवार, 5 नवंबर 2012

जैसे चाहो वैसे तुम जियो जिन्दगी



जैसे चाहो वैसे तुम जियो जिन्दगी
पर याद रहे न हो कोई तुझसे दुखी 

अपने  तरह जो रखे सबका ख्याल

रखने लगे हर  कोई उसका ख्याल
आने लग जाती हर तरफ से ख़ुशी।
  
मस्त रहो मस्ती दो कहते हैं सभी
प्यार करो सबसे  नफरत न कभी
छोड़ दो घुटन को फैलाओ ताजगी।   
  
जैसे चाहो वैसे तुम जियो जिन्दगी
पर याद रहे न हो कोई तुझसे दुखी।