गुरुवार, 2 जून 2011

अंजानो से कभी दिल न लगाना



अंजानो से कभी दिल न लगाना
हो सके तो प्यारे खुदको बचाना

पहले पहले तो ये पास में आयें
पास आके अपना खास बनायें
खास बना के फिर डालें ये दाना
हो सके तो प्यारे खुदको बचाना

झूठी कसमें ये खायें खिलाएँ
जाने क्या क्या ख्वाब दिखाएँ
इनकी बातों में कभी नहीं आना
हो सके तो प्यारे खुदको बचाना

मतलब में बड़े ये शातिर होते
बातों में भी ये बड़े माहिर होते
होता काम इनका अपना बनाना
हो सके तो प्यारे खुदको बचाना

1 टिप्पणी:

  1. बहुत सुन्दर गीत लिखा है प्रेम भाई ।
    काफी दिनों बाद आना हुआ ।

    उत्तर देंहटाएं