मंगलवार, 31 अगस्त 2010

दास्तान- ए-दिल सुनाते तो किसे सुनाते



दास्तान- ए-दिल सुनाते तो किसे सुनाते।
कोई अपना न था बुलाते तो किसे बुलाते।

ग़मों के सिवाय जिन्दगी में कुछ भी नहीं
ग़मों से भला हम दुखाते तो किसे दुखाते।

धरे के धरे रह गये अरमान सब प्यार भरे
प्यार अगर अपना लुटाते तो किसे लुटाते।

मस्त बहारें हमें मस्त कर के चली गयीं
साथ साथ अपने घुमाते तो किसे घुमाते।

बुधवार, 18 अगस्त 2010

साथी तेरा साथ मुझे प्यारा है


लड़का-
साथी तेरा साथ प्यारा है,प्यारा है बड़ा प्यारा है
मेरे जीने का सहारा है,
सहारा है बड़ा प्यारा है
तेरे ही साथ जिऊँगा मैं,तेरे ही साथ मरूँगा मैं
साथी तेरा साथ मुझे प्यारा है,प्यारा है बड़ा प्यारा है
मेरे जीने का सहारा है,
सहारा है बड़ा प्यारा है


लड़की -
साथी तेरा साथ  प्यारा है,प्यारा है बड़ा प्यारा है
मेरे जीने का सहारा है,
सहारा है बड़ा प्यारा है
तेरे ही साथ जिऊँगी मैं,तेरे ही साथ मरूँगी मैं
साथी तेरा साथ मुझे प्यारा है

लड़का-

पल भर की दूरी तेरी,करती मुझको बेचैन
न दिन ढंग से कटता है,न कटती ढंग से रैन
तेरी जिन्दगी,मेरी हर ख़ुशी
तुझमें ही खोया रहूँ,तुझको ही सोचा करुँ
साथी तेरा साथ मुझे प्यारा है,प्यारा है बड़ा प्यारा है
मेरे जीने का सहारा है,
सहारा है बड़ा प्यारा है


लड़की -
जब से दिल तुझसे लगा ,मुझे कुछ कुछ होता है
तेरी कसम तेरे वगैर,दिल पल पल रोता है
कर ले यकीं,मेरे हमनसीं
हाल मेरा तेरे जैसा है,कैसे कहूँ तुझे कैसा है
साथी तेरा साथ मुझे प्यारा है,प्यारा है बड़ा प्यारा है
मेरे जीने का सहारा है,
सहारा है बड़ा प्यारा है

लड़का-
एक दूजे से दूर हम,अब रह नहीं सकते हैं

लड़की -
दिल पर क्या गुजरे,वो कह नहीं सकते हैं

दोनों -
आओ पास तुम,रहें साथ हम
अब न होंगे हम जुदा,साथ रहेंगे हम सदा
साथी तेरा साथ मुझे प्यारा है,प्यारा है बड़ा प्यारा है
मेरे जीने का सहारा है,
सहारा है बड़ा प्यारा है

साथी तेरा साथ मुझे प्यारा है




रविवार, 15 अगस्त 2010

गर तुम मुझको मिल गये होते



गर तुम मुझको मिल गये होते।
तो फूल दिल में खिल गये होते।

कई जख्म हो गये चाहत में तेरी
करते इनायत तो सिल गये होते।
कमाल की होती मुहब्बत अपनी
देखते लोग तो वो हिल गये होते।

इंतजार में तेरे मुद्दतें सी हो गयी
नाजुक कई दिल छिल गये होते।


शुक्रवार, 6 अगस्त 2010

तू जाता जहाँ जा दीवाने,


तू
जाता जहाँ जा दीवाने,
देख
के मुझको मत गा तू गाने।
सिर्फ दो ही मिनट बस लगेंगे,
होश
कर दूँगी तेरे ठिकाने

अबला समझ तू मुझे,
तेरा
तबला बजा दूँगी मैं
याद रखेगा सारी उमर,
ऐसी तुझको
सजा दूँगी मैं
भूल के भी किसी को कभी,
छेड़ेगा
जाने अनजाने
सिर्फ दो ही मिनट बस लगेंगे,
होश
करके दूँगी तेरे ठिकाने

हरकतों से तेरी लग रहा ये,
अच्छे
घर का तू लगता नहीं
गर होता तो कभी इस तरह,
यूँ छेड़कानी तू करता नहीं
जा भाग जा यहाँ से नहीं तो,
कोई
आयेगा तुझे बचाने
सिर्फ दो ही मिनट बस लगेंगे,
होश
करके दूँगी तेरे ठिकाने

जवानी नहीं तेरे बस में तो,
जा शादी किसी से भी कर ले
किसी एक का हो के हमेशा,
हम सफ़र उसको तू कर ले
अगर दुबारा इधर आया तो,
सीधा पहुँचा दूँगी
तुझको थाने
सिर्फ दो ही मिनट बस लगेंगे,
होश
करके दूँगी तेरे ठिकाने

मंगलवार, 3 अगस्त 2010

उनके आने से पहले खिल गयी फूलों से डालियाँ


उनके आने से पहले खिल गयी फूलों से डालियाँ
जैसे डालियों ने पहन रखी हों कानों में बालियाँ

आसमान पर चढ़ कर बोलने लगी उनकी शुहरत
जहाँ जाते वहाँ स्वागत में बजने लगतीं तालियाँ

बेपनाह मुहब्बत करते हैं उनसे सारे ये जहाँ वाले
देख के हुस्नवालों के चेहरों पे खिलती हैं लालियाँ

हर कोई दौड़ पड़ता है उनको अपना प्यार जताने
जिस तरह
घेरती हों किसी को ससुराल में सालियाँ

बदनामी में भी उनको अपना नाम होता हुआ दिखे
बुरा नहीं लगता बिल्कुल अगर देता कोई गालियाँ

हुस्न भी बेकाबू हो रहा आजकल बाहर झाँकने को
ऐसे-ऐसे कपड़े पहनता है जिनमें होती हैं जालियाँ