शनिवार, 28 मार्च 2009

वो मेरी हर समस्या सुलझाना चाहते है


वो मेरी हर समस्या सुलझाना चाहते है।
शायद इसी बहाने से फुसलाना चाहते हैं।

हर तरह से यकीन दिलाते नहीं थकते
वो सारे जमाने को झुठलाना चाहते हैं।

हाय जाने उन्हें क्या दिख गया मुझमें
मेरी लिए जमाने को ठुकराना चाहते हैं।

आशिक देखे बहुत पर ऐसे न देखे कहीं
तन मन धन से वो लुटजाना चाहते हैं।

कहते यह दुनिया मुझको रास नहीं आती
मुझको लेकर वो कहीं उड़जाना चाहते हैं।

दो पल नहीं जीवन भर का साथ चाहिए
इस तरह मुझसे वो जुडजाना चाहते हैं।

6 टिप्‍पणियां:

  1. अगर समस्या सुलझ रही हो,

    तो दल-दल में धँस जाना।

    सोच समझ कर कदम बढ़ाना,

    नाहक ही मत फँस जाना।।

    उत्तर देंहटाएं
  2. हर तरह से यकीन दिलाते नहीं थकते
    वो सारे जमाने को झुठलाना चाहते हैं।

    वाह। चलिए मेरी तरफ से भी एक तुकबंदी-

    मिल के जुदा न होंगे ऐसा किया था वादा।
    अब देखते ही मुझको मुड़जाना चाहते है।।

    सादर
    श्यामल सुमन
    09955373288
    मुश्किलों से भागने की अपनी फितरत है नहीं।
    कोशिशें गर दिल से हो तो जल उठेगी खुद शमां।।
    www.manoramsuman.blogspot.com
    shyamalsoman@gmail.com

    उत्तर देंहटाएं
  3. सून्दर प्रयास। बहुत बहुत बधाई

    उत्तर देंहटाएं